Friday, December 4, 2020

नागाओं का रहस्य| The Secret Of Nagas | Amish Tripathi | Shiva Trilogy | Book Review | Amazon Kindle

नागाओं का रहस्य | The Secret Of Nagas | Amish Tripathi | Shiva Trilogy | Book Review | Amazon Kindle


गलत हुआ फैसला तेरा,

लेकिन हिम्मत अभी बाकी है।

उठ, फिर लढ तू,

असली अभी बाकी है।

नही छोड़ सकता लढाई यही

क्योंकि शैतान अभी बाकी है।

कर देगा विनाश तू,

तो सिर्फ भगवान कहना बाकी है।

https://youtu.be/qIrp59cdsOc


   दोस्तों अपने गलतियों से सीखकर हमे आगे बढ़ना होता है और अपने कार्यों को मंजिल तक ले जाना होता है। कोई अच्छा कार्य करते वक़्त , अपनी तय की हुई मंजिल तक पहुंचते हुए कुछ फैसले गलत हो सकते है। लेकिन गलतियों से आगे बढ़कर हमे अपना रास्ता बनाना होता है। कोई भी दुनिया मे यू ही सफल नही होता है, उसके पीछे की गई मेहनत सफलता का राज बनती है। आज ऐसी ही एक Motivational किताब की जानकारी में देने वाला हु। अमिश त्रिपाठी(Amish Tripathi) द्वारा लिखी गई "Shiva Trilogy Series" की दूसरी किताब "नागाओं के रहस्य"( The Secret Of Nagas) के बारे में आपको जानकारी दूंगा।

   दोस्तों पिछली Post  में मैंने आपको "Shiva Trilogy Series" कि पेहली किताब "मेलुहा के मृत्युंजय" (The Immortals Of Meluha) में सरदार शिवा का भगवान बनने का सफर शुरू हुआ था। इस किताब में वहा से आगे की कहानी बताई गई है। सती और शिवा- दोनों लोकनायक की और से हुए हमले से बच जाते है। इस हमले की वजह से, साथ मे बृहस्पति पर हुआ हमला और मगध के राजकुमार की हत्या ऐसे कई कारणों से शिवा नागलोक की तलाश का फैसला लेते है। साथ मे पंडितों से हो रही बातचीत में शिवा असली शैतान को पहचान करने की कोशिश करते है।

   अगला पड़ाव काशी की पवित्र भूमि पर लिया जाता है। वहा सती और शिवा के पुत्र कार्तिक का जन्म होता है। जन्म के दौरान शिवा को पता चलता है कि ब्रंग राज्य को नागलोक से मदत मिलती है। वहा से शिवा अकेले ब्रंग राज्य की ओर निकल जाते है। वहा परशुराम जैसा योद्धा भक्त उन्हें मिलता है। लेकिन उससे पहले बड़ी घमासान लढाई भी होती है। वही दूसरी ओर सती और कार्तिक दोनो काशी में थे। उसी दौरान काशी के गांव को बचाने के लिए सती छोटे सैनिक टुकड़ी के साथ वहा पहुंचती है। गांव में हुए हमले में पशु लढाई में हावी होने लगते है। उसी वक्त लोकनायक और नागलोक की रानी वहा सती को बचाते है। 

   नागलोक के लोकनायक और रानी की मुलाकात में सती को बीते हुए जीवन की सच्चाई का पता चलता है। सती और शिवा इस रहस्य को जानने के बाद आश्चर्यचकित हो जाते है। लेकिन शिवा अपने मित्र बृहस्पति की हत्या के कारण उनपर विश्वास नही करते है। ऐसे में शिवा को विश्वास दिलाने हेतु सभी नागलोक जाने का फैसला करते है। शिवा अपने परिवार और साथियों के साथ नागलोक पहुंचते है। वहा अचानक से उनपर हमला होता है। लढाई में शिवा जीत जाते है। लेकिन हमले की सच्चाई समझने के बाद और वहा हुई एक व्यक्ति की मुलाकात से सभी आश्चर्य से भर जाते है। यही पर दूसरी किताब का अंत होता है। 

   दोस्तों, "The Secret Of Nagas" की छोटीसी पहचान से आपको इसकी रोचकता का अंदाज़ा तो आया ही होगा। इस किताब में सुर्यवंशी(Suryavanshi) जैसे संपन्न राज्य के खोखलेपन का रहस्य उजागर होता है। उसी के साथ मैका और नागलोगों के पहचान जैसे रहस्य, साथ मगध, काशी, ब्रंग और नागलोक के राज्य में सफर करते हुए उनके जीवन पद्धति की पहचान होती है।

   तो अमिश त्रिपाठी जी के इस लेखन को, उनके रहस्यमय रचना को आपको जरूर पढ़ना चाहिए। मैने आगे Links दी है-

English - https://amzn.to/3lavT6L

हिंदी- https://amzn.to/2HDaQMa

   यहा से आप खरीदकर जरूर पढ़ें। आशा करता हु आपको ये जानकारी पसंद आई होगी। अगर पसंद आये तो share जरूर करे। आप ये जानकारी वीडियो में देखने के लिए मेरे YouTube Channel - Apna Thought पर जरूर भेट दे। 

1 comment:

  1. Sports betting is anticipated to be the leading section in the market market}. Based on gadgets, the market is categorized into desktop, cell, and others (tablet, iPad, and so forth.). When Insider spoke to Huang, he implied he wanted to stop playing and showed Insider an e-mail he despatched to a playing habit charity to get support. The workers usually live outdoors China in nations together with the Philippines or Cambodia, and are paid round $1000 a month, Ben Lee stated. "They want a digital little military of young Chinese youth to do the telemarketing," he added. However, 솔카지노 David Lee, a playing lawyer at Lin & Partners, says the law "would not explicitly mention whether or not the Chinese law enforcement can take actions towards playing operators outdoors China."

    ReplyDelete